Chacha Nehru Par Kavita

बाल दिवस चाचा नेहरु पर कविता

Chacha Nehru Par Kavita

Chacha Nehru Par Kavita

 बाल दिवस चाचा नेहरु पर बाल कविता

चाचा नेहरु का बच्चों से,
बहुत पुराना नाता.
जन्म दिवस चाचा नेहरु का,
बाल दिवस कहलाता.

चाचा नेहरु ने देखे थे,
नव भारत के सपने .
सपने पूरे कर सकते थे,
उनके बच्चे अपने.

इसे भी पढ़े :- Childrens Day In Hindi- बाल दिवस पर निबंध

इस दिन हम सब बच्चें मिलकर,
गीत ख़ुशी के गाते .
चाचा नेहरु के चरणों में,
श्रद्धा सुमन चढ़ाते .

...

शालाओं में भी होते हैं,
नये नये आयोजन .
जिन्हें देख आनंदित होते,
हम बच्चों के तन मन.

इसे भी पढ़े : Bal Diwas Sms In Hindi Kids Day Poem Shaayri In Hindi

बाल दिवस के इस अवसर पर,
एक शपथ यह खाओ.
ऊँच नीच का भेद भूला कर,
सबको गले लगाओ.

जिस दिन लाल जवाहर ने था,
जन्म जगत में पाया।
उसका जन्मदिवस भारत में
बाल दिवस कहलाया।।

इसे भी पढ़े :- Bal diwas Childrens Day Essay Nibandh In Hindi बाल दिवस पर भाषण और निबंध

मोती लाल पिता बैरिस्टर,
माता थी स्वरूप रानी।
छोड़ सभी आराम-ऐश को,
राह चुनी थी बेगानी।।
त्याग वकालत को नेहरू ने,
गांधी का पथ अपनाया।
उसका जन्मदिवस भारत में
बाल दिवस कहलाया।।

आजादी पाने की खातिर,
वीरों ने बलिदान दिया।
अमर सपूतों ने पग-पग पर ,
अपमानों का पान किया।
दमन चक्र से जो गोरों के,
कभी नहीं घबराया।
उसका जन्मदिवस भारत में
बाल दिवस कहलाया।।

यह भी पढ़े :-  Bal Diwas Par Bachcho Ke Liye Chacha Nehru Par Kavita

दागे नहीं तोप से गोले,
ना बरछी तलवार उठायी।
सत्य-अहिंसा के बल पर,
खोई आजादी पायी।
अनशन करके, अंग्रेजों से,
शासन वापिस पाया।
उसका जन्मदिवस भारत में
बाल दिवस कहलाया।।

इसे भी पढ़े :- Bal Diwas Par Chacha Nehru Ki Hindi Kavita

बच्चों को जो सदा प्यार से,
हँसकर गले लगाता था।
इसीलिए तो लाल जवाहर,
चाचा जी कहलाता था।
अपने जन्मदिवस को जिसने,
बालकदिवस बनाया।
उसका जन्मदिवस भारत में
बाल दिवस कहलाया।।

इसे भी पढ़े :- bal diwas quotes Children Day’s SMS Messages Wishes In Hindi

शासक था स्वदेश का पहला,
अपना प्यारा चाचा।
नवभारत के निर्माता का,
मन था सीधा-साचा।
उद्योगों का जिसने,
चौबिस घंटे चक्र चलाया।
उसका जन्मदिवस भारत में
बाल दिवस कहलाया।।

चाचा नेहरू तुमने
प्यारे बच्चों को ईनाम दिया था।
अपने जन्म-दिवस को
तुमने बाल-दिवस का नाम दिया था।

नेहरू जी का पावन जन्म दिन मनाएं |
उनकी यादों को भी सहलाएं |
मोती के घर जन्म लिया |
सोने के चमच्चसे ढूध पिया |
वे रत्न थे भारत के महान |
उन्होंने किया नवयुग का निर्माण |
आपको नमन हे भारत के कर्णधार |
पंचशील के तुम ही थे आधार |

इसे भी पढ़े :-  बाल दिवस चाचा नेहरु पर कविता

तन पर कपड़ा सिर पर छत हो रोटी का इंतजाम रहे ।
शोषणमुक्त सभी बच्चे हों न कोई लाचार मिले ।।

जात-पात मजहब की बातें बच्चों से सब दूर रहें ।
मिलजुलकर सब रहें देश में ऐसा सुख-संसार मिले ।।

अत्याचार न हो बच्चों पर कभी कहीं अन्याय न हो ।
सबको मिलें जरुरी चीजें पूरे निज अधिकार मिलें ।

अच्छा बचपन मिलें सभी को उड़ने की आजादी हो ।
बालश्रम पर रोक रहे नित सब सपने साकार मिलें ।।

सूरज चंदा बनकर चमकें जग में रोशन नाम करें ।
सब सुख साधन मिलें जरुरी इनको इक आधार मिले ।

बच्चे हों परेशान कहीं तो बाल दिवस बेमानी है ।
सबके अधरों पर खुशियाँ हों हर बच्चे को प्यार मिलें ।।

हँसते-खिलते रहें सदा सब बच्चों की मनमानी हो ।
हर दिन इनका बाल दिवस हो सबकी दुआ दुलार मिलें ।।

इसे भी पढ़े  :- Children’s Day – Bal Divas 14 November बाल दिवस पर भाषण, कविता

तुमने किया स्वदेश स्वतंत्र, फूंका देश-प्रेम का मन्त्र,
आजादी के दीवानों में पाया पावन यश अभिराम !
चाचा नेहरू, तुम्हें प्रणाम !

सबको दिया ह्रदय का प्यार, चाहा जन-जन का उद्धार,
भारत माता की सेवा में, समझ लिया आराम हराम !
चाचा नेहरू, तुम्हें प्रणाम !

पंचशील का गाया गान, विश्व -शांति की छेड़ी तान,
दुनियां को माना परिवार, बही प्रेम-सरिता अविराम !
चाचा नेहरू, तुम्हें प्रणाम !

पाकर तुम-सा अनुपम लाल, हुआ देश का ऊँचा भाल,
भूल नहीं सकते तुमको हम, अमर रहेगा युग-युग नाम !
चाचा नेहरू, तुम्हें प्रणाम !

Most Popular On JobsHint
Bal diwas Childrens Day Essay Nibandh In Hindi बाल... बाल दिवस पर भाषण और निबंध बाल दिवस   14 नवम्बर भारत में प्रति वर्ष बाल दिवस के रूप में मनाया जात...

Leave a Reply