Happy New Year 2017 Poems in Hindi (2017)

Happy New Year Kavita New Shayari in Hindi (2017)

Happy New Year Shayari  in Hindi Kavita  2017

Happy New Year 2017 Poems in Hindi (2017)
(1)
         नया साल मुबारक हिंदी कविता व शायरी  :- ——————

जिन्दगी का एक ओर वर्ष कम हो चला,
कुछ पुरानी यादें पीछे छोड़ चला..

कुछ ख्वाईशैं दिल मे रह जाती हैं..
कुछ बिन मांगे मिल जाती हैं ..

कुछ छोड़ कर चले गये..
कुछ नये जुड़ेंगे इस सफर मे ..

कुछ मुझसे बहुत खफा हैं..
कुछ मुझसे बहुत खुश हैं..

...

कुछ मुझे मिल के भूल गये..
कुछ मुझे आज भी याद करते हैं..

कुछ शायद अनजान हैं..
कुछ बहुत परेशान हैं..

कुछ को मेरा इंतजार हैं ..
कुछ का मुझे इंतजार है..

****कुछ सही है****
कुछ गलत भी है.
  ~  कोई गलती तो माफ कीजिये और~

 (2)
        New Year  Hindi  kavita   :- ————————————

                                                              ***नए साल पर  हिंदी कविता***

आरंभ का अंत हो जाना नया साल है!

गिनती का नंबर बदल जाना नया साल है !

वर्तमान का इतिहास बन जाना नया साल है !

उदये होते हुये सूरज का ढल जाना नया साल है !

खिल के फूल का डाल से उतर जाना नया साल है !

दे के जनम मां का आंचल ममता से भर जाना नया साल है !

एक दर्द भूल कर सुख को पेहचान जाना नया साल है !

                                                               ***नये साल की हार्दिक शुभकामनायें आप को ***

(3)
      New Year Poems in Hindi    ( स्वागत है आप को नववर्ष  का ):—————               

                                                                             *** स्वागत है नववर्ष तुम्हारा***

स्वागत है नव वर्ष तुम्हारा, अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा
देकर नवल प्रभात विश्व को, हरो त्रस्त जगत का अंधियारा

हर मन को दो तुम नई आशा, बोलें लोग प्रेम की भाषा
समझें जीवन की सच्चाई, पाटें सब कटुता की खाई

जन-जन में सद्भाव जगे, औ घर-घर में फैले उजियारा।।

  ***स्वागत है नववर्ष तुम्हारा ***

मिटे युद्ध की रीति पुरानी, उभरे नीति न्याय की वाणी
भय आतंक द्वेष की छाया का होवे संपूर्ण सफाया

बहे हवा समृद्धि दायिनी, जग में सबसे भाईचारा।।

    ***स्वागत है नववर्ष तुम्हारा***

करे न कोई कहीं मनमानी दुख आंखों में भरे न पानी
हर बस्ती सुख शांति भरी हो, मुरझाई आशा लता हरी हो

भूल सके जग सब पी़ड़ाएं दुख दर्दों क्लेशों का मारा।।

        ***स्वागत है नववर्ष तुम्हारा***

वातावरण नया बन जाए, हर दिन नई सौगातें लाए
सब उदास चेहरे मुस्काएं, नए विचार नए फूल खिलाएं

ममता की शीतल छाया में जिए सुखद जीवन जग सारा।।

Most Popular On JobsHint
Comedy Hindi Jokes Sms Latest whatsapp Funny Hindi... Comedy Hindi Jokes Sms Latest whatsapp Funny Hindi Jokes Comedy Hindi Jokes Sms Latest whatsapp Fun...

Leave a Reply