Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindi

Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindi

Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindi

Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindi

ज्यादा लंबे समय तक बैठना हो सकता है जानलेवा
एक अध्ययन में पता चला है कि दुनिया भर में करीब चार प्रतिशत मौतें तीन घंटे से ज्यादा समय तक बैठने से शरीर पर पड़ने वाले दुष्परिणामों के कारण होती हैं। अध्ययन में 54 देशों के सर्वेक्षणों का विश्लेषण किया गया है।अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रीवेंटिव मेडिसिन में प्रकाशित अध्ययन में बताया गया कि सर्वेक्षण के अनुसार हर दिन तीन घंटे से कम समय बैठने से जीवन प्रत्याशा में औसतन 0.2 वर्षों की बढ़ोतरी होती है।बैठने के नुकसानकारी प्रभावों का सही से आकलन करने के लिए अध्ययन में दुनिया भर के 54 देशों के व्यवहार संबंधी सर्वेक्षणों का विश्लेषण किया गया और उन्हें आबादी के आकार, जीवनांकिक तालिका एवं कुल मौतों के आंकड़े के साथ मिलाया गया।ब्राजील के यूनिवर्सिटी ऑफ साओ पाउलो स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि बैठने के समय से महत्वपूर्ण रूप से हर तरह की मौत के कारण प्रभावित होते हैं। इनका आंकड़ा 54 देशों में कुल मौतों की संख्या में करीब 3.8 प्रतिशत है।

स्वास्थ्य  सम्बन्धी जयादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे 

Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindiयुवा, मोटे लोग हो रहे हैं दिल की बीमारी के शिकार
दिल की बीमारी पर किए गए एक नए अध्ययन में पाया गया है कि अब ऐसे युवा, मोटे लोग दिल की बीमारी के शिकार हो रहे हैं जो धूम्रपान करते हैं और उच्च रक्तचाप एवं मधुमेह से ग्रस्त होते हैं। इस शोध में भारतीय मूल के एक अनुसंधानकर्ता भी शामिल हैं।अध्ययन में 3,900 से अधिक ऐसे मरीजों में दिल की बीमारी पैदा करने वाले कारकों का विश्लेषण किया गया है, जिनका अमेरिका के क्लीवलैंड क्लीनिक में 1995 और 2014 के बीच दिल की बीमारी की गंभीर एवं खतरनाक किस्म एसटी-एलिवेशन मायोकार्डियल इन्फ्रैक्शन या एसटी सेगमेंट एलिवेशन मायोकार्डियल इन्फ्रैक्शन (एसटीईएमआई) के लिए उपचार किया गया है।अध्ययन के मुख्य शोधकर्ता एवं क्लीवलैंड क्लीनिक के समीर कपाड़िया ने बताया, दिल की बीमारी के उपचार में सुधार के लिए चिकित्सा बिरादरी ने बढ़िया काम किया है, लेकिन यह अध्ययन दिखाता है कि हमें रोकथाम की दिशा में और बेहतर करना है।

...

Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindi

पाचन शक्ति बढ़ाने में कारगर है बादाम
शारीरिक मजबूती के लिए अक्सर लोग बादाम खाने की सलाह देते हैं लेकिन शारीरिक शक्ति बढ़ाने के अलावा बादाम पेट का पाचन तंत्र ठीक रखने में भी कारगर साबित होता है। बादाम में मौजूद फाइबर तत्व हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। बादाम नैचुरल प्रोबायोटिक होता है। बादाम जो कि एक प्रोबायोटिक है, उसे खाने से शरीर में फायदेमंद बैक्टीरिया बढ़ जाता है, जो पाचन तंत्र के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है। साथ ही साथ, ये अच्छे बैक्टीरिया हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को भी मज़बूत बनाते हैं, और बार-बार होने वाली मौसमी बीमारियों से हमारा बचाव करते हैं। बादाम में पॉलिफिनॉल होते हैं। ये तत्व एंटी-माइक्रोबायल एजेंट के रूप में काम करते हैं। ये आपको खाने-पीने से पैदा होने वाली कई
बीमारियों से सुरक्षा देते हैं और उनका उपचार करने में आपकी मदद करते हैं।हमारे पाचन तंत्र में ऐसे बहुत सारे बैक्टीरिया होते हैं जो शरीर को नुकसानदायक माइक्रोऑर्गेनिज्म से बचाते हैं। प्रोबायोटिक खाद्य पदार्थों के ऐसे न पाने वाले हिस्से होते हैं जो बैक्टीरियल ग्रोथ और एक्टिविटी को बढ़ावा देते हैं। शोध अध्ययनों में ये सामने आया है कि बादाम में कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो प्रोबायोटिक गुणों को प्रदर्शित करते हैं, और आंतों के अंदर फायदेमंद बैक्टीरिया को बढ़ावा देते हैं।

Health Tips In Hindi Man Body Healthy Body Tips In Hindi

सेहत के लिए काफी फायदेमंद है कच्चा पपीता
कच्चा पपीता लीवर के लिए बहुत उपयोगी है यह लीवर को काफी बल प्रदान करता है। पीलिया में लीवर काफी खराब हो जाता है, कच्चा पपीता खाने से या उसकी सब्जी के रूप में खाने से पीलिया रोगियों को काफी फायदा पहुंचता है। कच्चे पपीते और उसके बीज में बहुत सारा विटामिन ‘ए’, ‘सी’ और ‘ई’ होता है, जो कि शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकता है। कच्चा पपीता सर्दी और जुखाम के साथ इंफेक्शन से भी लड़ता है, यह मूत्र संबंधी समस्याओं में फायदा पहुंचा सकता है। यह बैक्टीरिया बढ़ने से रोकता हैशरीर पर अनचाहे बाल देखने में काफी भद्दे लगते हैं और इनसे छुटकारा पाना भी मुश्किल होता है। हर महीने इन्हें साफ करने के लिए वैक्स या शेव करना आपके लिए बोझिल और दर्दनाक हो सकता है। कच्चे पपीते से अनचाहे बालों को दोबारा उगने से भी रोका जा सकता है। कच्चे पपीते में एक शक्तिशाली एंजाइम होता है, जिसे पैपिन के नाम से जाना जाता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फार्मसूटिक्स में
प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, पैपिन बालों के रोम को कमजोर कर और उन्हें दोबारा से बढ़ने से रोककर आपको अनचाहे बालों से छुटकारा दिलाने में सहायक है। इस मामले में कच्चा पपीता बाजार में उपलब्ध अन्य क्रीम से ज्यादा प्रभावी है। आपको बता दें कि कच्चे पपीते में पके हुए पपीते की तुलना में पैपिन की मात्रा अधिक होती है।

स्वास्थ्य  सम्बन्धी जयादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे 

 

Most Popular On JobsHint
Health Tips in Hindi Fitness Tips Hair Care Tips Health Tips in Hindi Fitness Tips Hair Care Tips Health Tips in Hindi Fitness Tips Hair Care Tips ...

Leave a Reply