India beat Sri Lanka by 117 runs, win historical series

India beat Sri Lanka by 117 runs, win historical series

भारत ने रचा इतिहास, 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीती !!

भारत ने कोलंबो के तीसरे टैस्ट में श्रीलंका को 117 रनों से हराकर 2-1 से सीरीज पर कब्ज़ा कर लिया। इशांत शर्मा इस रोमांचक टैस्ट में जीत के हीरो रहे और मैच का फैसला आखिरी दिन के आखिरी सेशन में हुआ।

पहली पारी में शुरू से अंत तक आउट हुए बिना शानदार 145 रन बनाने वाले चेतेश्वर पुजारा को मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार दिया गया वहीँ तीन मैचों में 21 विकेट लेने वाले रविचंद्रन अश्विन को मैन ऑफ़ द सीरीज का ख़िताब मिला।

तीसरे दिन अपने 67/3 से आगे खेलते हुए श्रीलंका ने कप्तान एंजेलो मैथ्युज़ और कुशल परेरा की जबरदस्त बल्लेबाजी की बदौलत एक समय भारत को डरा दिया था और लक्ष्य उनके पहुँच में था। लेकिन भारत ने मौके का फायदा उठाया और श्रीलंका में 22 साल बाद सीरीज जीत ली। इसके अलावा ये भारत की 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज जीत के बाद अपने देश से बाहर पहली सीरीज जीत है।

इशांत शर्मा के नो बॉल पर आउट होने के बाद एंजेलो मैथ्युज़ ने इस मौके का भरपूर फायदा उठाया। उन्होंने कुशल परेरा के साथ मिलकर एक अहम साझेदारी निभाई जिसमें परेरा ने अपने पहले टैस्ट में दूसरा अर्धशतक लगाया।

...

इससे पहले सुबह के सत्र में उमेश यादव ने कौशल सिल्वा को पुजारा के हाथों कैच आउट करवा दिया था। इसके बाद अश्विन की गेंद पर केएल राहुल ने लाहिरू थिरिमन्ने का शानदार कैच लपक कर उन्हें पवेलियन वापस भेजा।

मैथ्युज़ ने 110 और परेरा ने 70 रन बनाये और दिन के 58 ओवर तक श्रीलंका ने सिर्फ दो विकेट गँवाए थे। लेकिन चाय के समय से ठीक पहले अश्विन ने परेरा को आउट कर दिया और कप्तान कोहली को नए बॉल लेने का विकल्प दे दिया।

चाय के बाद पहले ही ओवर में इशांत ने मैथ्युज़ को आउट कर दिया जो उनका 200वां विकेट भी था। इसके बाद अश्विन और मिश्रा ने पुछल्ले बल्लेबाजों को जल्दी समेट दिया। इशांत के 3 के अलावा अश्विन ने 4, उमेश ने 2 और अमित मिश्रा ने 1 विकेट लिया।

विराट कोहली निश्चित रूप से अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन से बहुत खुश होंगे क्योंकि सभी ने विकेट लेकर अपना योगदान दिया खासकर इशांत शर्मा जिन्होंने मैच में 8 विकेट लेकर श्रीलंका को झटका दे दिया। इसके अलावा पहली पारी में पुजारा के द्वारा बनाया गया शतक भी हर मायने में काफी महत्वपूर्ण रहा।

Leave a Reply