Salman Khan‬ jodhpur case ‪Rajasthan High Court‬‬ 2016

Salman Khan‬ jodhpur case In ‪Rajasthan High Court‬‬ 2016

Salman Khan‬ jodhpur case In ‪Rajasthan High Court‬‬ 2016

Salman Khan‬ jodhpur case ‪Rajasthan High Court‬‬ 2016

जयपुर: जोधपुर हाईकोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को बड़ी राहत देते हुए काला हिरण और चिंकारा शिकार के मामले में बरी कर दिया है। सलमान ने निचली अदालत से मिली सजा को जोधपुर हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। निचली अदालत ने सलमान को शिकार के दो अलग-अलग मामलों में क्रमश: एक साल और पांच साल की सजा सुनाई थी। हाईकोर्ट ने मामले पर मई के आखिरी सप्ताह में सुनवाई पूरी कर ली थी और फैसला सुरक्षित रख लिया था।

अवैध शिकार के दो अलग-अलग मामलों में सलमान के अलावा सात अन्य आरोपी भी शामिल हैं। जोधपुर के सुदूरवर्ती इलाके भावड़ में 26 सितंबर, 1998 को और इसी इलाके के घोड़ा फार्म्स में 28 सितंबर, 1998 को यह अवैध शिकार किए गए थे। सलमान उस समय जोधपुर में फिल्म ‘हम साथ साथ हैं’ की शूटिंग कर रहे थे। सलमान इस मामले में इससे पहले जोधपुर जेल जा चुके हैं।

Salman Khan‬ jodhpur case ‪Rajasthan High Court‬‬ 2016

कोर्ट में सलमान के वकील की ये रहीं दलीलें

1998 के चिंकारा शिकार मामले में बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान को सुनाई गई पांच साल की कैद की सजा को खारिज करने की दलील देते हुए उनके वकील ने राजस्थान हाईकोर्ट में कहा कि उनके खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है, क्योंकि मुख्य सरकारी गवाह घटना के वक्त उनके साथ नहीं था।

...

कैसे किया बयानों पर भरोसा

सलमान के वकील महेश बोरा ने न्यायमूर्ति निर्मलजीत कौर से कहा कि मुख्य सरकारी गवाह हरीश दुलानी 1-2 अक्तूबर, 1998 को दो काले हिरण के कथित शिकार के दौरान अभिनेता के साथ नहीं थे, तो ऐसे में कैसे उनके बयानों पर भरोसा करते हुए वन विभाग और पुलिस ने खान के खिलाफ दो अलग अलग मामले दर्ज किए।

होटल पर वाहन छोड़ने गए थे

बोरा ने कहा कि दुलानी ने बयान दिया कि वह बस होटल पर वाहन छोड़ने गए थे और 1 अक्तूबर की रात को लौट आए। जब वन विभाग ने उनसे पूछताछ की तब उन्होंने कहा कि शिकार की दो और घटनाएं हुई, एक 26 सितंबर, 1998 को और दूसरी 28 सितंबर,1998 को। उन्होंने कहा कि जब बोरा खुद ही मौजूद नहीं थे तब ऐसे में उन पर भरोसा कैसे किया जा सकता है। अतएव कथित शिकार को लेकर खान के खिलाफ मामला नहीं बनता है। दुलारी से जबरन बयान लिया गया। बोरा ने कहा कि इस मामले के किसी भी गवाह ने खान को शिकार करते हुए या उन्हें मरे हुए जानवर लाते नहीं देखा। ऐसे में कैसे खान अभियोजित किये जा सकते हैं जबकि अन्य सभी आरोपी बरी हो चुके हैं।

सलमान के खि‍लाफ दोनों ही मामले गलत

सलमान खान के वकील हस्तीमल ने कहा, ‘दो केस दर्ज थे. घोड़ा फार्म हाउस मामले में सलमान को 5 साल कैद और भवाद केस में एक साल कैद की सजा मिली थी. हाई कोर्ट ने मामले में राज्य सरकार की अर्जी को खारिज कर दी और सलमान को बरी कर दिया. कोर्ट ने दोनों ही मामलों को गलत पाया. केस में जिन लोगों को गवाह बनाया किया कोई कभी पेश नहीं हुआ. इसमें जिप्सी का ड्राइवर भी शामिल है.’

‘सलमान को कभी टेंशन में नहीं देखा’

वकील हस्तीमल ने कहा कि उन्होंने कई केस लड़े हैं. लोगों को हमेशा टेंशन में देखा है, लेकिन सलमान खान को उन्होंने कभी टेंशन में नहीं देखा. शायद ऐसा इसलिए कि सलमान जानते थे कि उनके खिलाफ गलत मामला चल रहा है. हस्तीमल ने कहा, ‘हमने कोर्ट में साबित किया जिन सबूतों का जिक्र किया जा रहा है, सभी फर्जी हैं. जो चाकू जब्त किया गया वह नया चाकू था और छोटा था. इसके अलावा जिप्सी में जो छर्रे मिले वह गन की बुलेट से मैच नहीं करते.’

‘हम फैसले के खि‍लाफ सुप्रीम कोर्ट जाएंगे’

दूसरी ओर, बिश्नोई समाज के वकील महिपाल बिश्नोई ने कहा कि वह इस फैसले के खि‍लाफ सुप्रीम कोर्ट जाएंगे. उन्होंने कहा, ‘हम यह जानना चाहते हैं कि चिंकारा मरा कैसे? हम कोर्ट के फैसले से खुश नहीं हैं. हम न्यायालय के फैसले पर सवाल नहीं उठा रहे, लेकिन हम सर्वोच्च अदालत में इसे चुनौती देंगे.’

गौरतलब है कि अभि‍नेता ने सेशन कोर्ट के फैसले के खि‍लाफ ऊपरी अदालत में अपील की थी. हाई कोर्ट में मई महीने में ही सुनवाई खत्म हो चुकी है, जिसके बाद फैसला सुरक्षि‍त रख लिया गया था. शिकार के करीब 18 साल बाद इस मामले में फैसला आया है.

Salman Khan‬ jodhpur case ‪Rajasthan High Court‬‬ 2016

                सलमान को अब शादी कर लेनी चाहिए

कोर्ट के फैसले के बाद फिल्म अभिनेता रजा मुराद ने कहा कि यह लोकतंत्र है और हमेशा सच्चाई की जीत होती है. उन्होंने फैसले पर खुशी जताते हुए कहा कि सलमान खान अब केस के मामले से निपट गए हैं, उन्हें अब घर बसा लेना चाहिए.


10 प्वॉइंट्स में जानिए क्या है पूरा मामला, अब तक क्या-कुछ हुई है कार्रवाई-

1) सलमान खान पर शिकार मामले में कुल चार केस दर्ज हुए हैं. मथानिया और भवाद में तीन चिंकारा के शिकार के दो अलग-अलग मामले, कांकाणी में हिरण शिकार मामला और लाइसेंस समाप्त हो जाने के बाद भी रायफल रखने (आर्म्स एक्ट) का आरोप.

2) तीन चिंकारा शि‍कार मामले में सलमान खान को पहली बार 17 फरवरी 2006 को जोधपुर की निचली अदालत से एक साल की सजा हुई थी. जोधपुर के पास भवाद गांव में 26-27 सितंबर की रात 1998 में शिकार किया था.

3) सलमान को काले हिरण के शि‍कार मामले में 10 अप्रैल 2006 को पांच साल की सजा हुई. श‍िकार का यह मामला जोधपुर के मथानिया के पास घोड़ा फार्म में 28-29 सितंबर 1998 की रात का है. लेकिन बाद में जोधपुर हाई कोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई. घोड़ा फार्म हाउस शिकार मामले में सलमान को 10 से 15 अप्रैल 2006 तक 6 दिन केंद्रीय कारागृह में रहना पड़ा. सेशन कोर्ट द्वारा इस सजा की पुष्टि करने पर सलमान को 26 से 31 अगस्त 2007 तक जेल में रहना पड़ा था.

4) इन दोनों मामले में जोधपुर हाई कोर्ट में 12 मई को सुनवाई पूरी हो चुकी थी और फैसला सुरक्षित था.

5) तीसरा केस कंकाणी गांव में 1-2 अक्टूबर 1998 की रात दो काले हिरणों के शिकार का है. ये केस आर्म केस में एडिशनल चार्ज फ्रेम होने की वजह से जुलाई 2012 तक पेंडिंग रहा और अब सेशन कोर्ट में चल रहा है.

6) फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सितंबर-अक्टूबर 1998 के दौरान सलमान सहित अन्य अभि‍नेताओं पर आरोप है. इस मामले में सलमान खान के साथ सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम पर भी शिकार के लिए सलमान को उकसाने का आरोप है.

7) सलमान खान चिंकारा का शिकार करने के मामले में और घोड़ा फार्म हाउस शिकार मामले में 12 अक्टूबर 1998 से 17 अक्टूबर तक पुलिस व न्यायिक हिरासत में रहे. उन्हें 10 से 15 अप्रैल 2006 तक छह दिन केंद्रीय कारागृह में रहना पड़ा.

8) सितंबर 1998 में राजस्थान में फिल्म निर्माता सूरज बड़जात्या की फिल्म ‘हम साथ साथ हैं’ की शूटिंग चल रही थी. सलमान के अलावा सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम भी इस फिल्म में काम कर रही थे. इन कलाकारों पर भी संरक्षित जानवर काले हिरण के शिकार का आरोप है.

9) इस मामले में सबसे महत्वपूर्ण गवाह हरीश दुलानी हैं, जो शिकार के समय सलमान की जिप्सी चला रहे थे. हालांकि, वो अभी तक गायब हैं. कुछ लोग कहते हैं कि वो मुम्बई में हैं, जबकि कई लोग उनके विदेश में होने के बात कर रहे हैं.

10) हरीश के घर वालों ने भी कभी किसी को नहीं बताया कि वे कहां हैं. बता दें क‍ि हरीश ने इससे पहले सलमान खान के खिलाफ गवाही दी थी, जबकि बाद में वह पलट गए और अभि‍नेता के पक्ष में आ गए. वो भी 17 साल से गायब हैं.

Leave a Reply