Winter Health and Diet Tips

Winter Health and Diet Tips

सर्दियों में  गुड़ खाने के सेहत पर फायदे !

गुड़ आयरन, मेग्नीशियम, ग्लूकोस और सुक्रोस का अच्छा सोर्स है। इसके सेवन से मांस पेशियों की थकान दूर होती है। इसमें सोडियम की कम मात्रा होती है व पोटेशियम की अच्छी मात्रा होती है। गुड़ में सेलेनियम होता है और यह एक एंटीओक्सिडेंट का काम करता है।

ये गले और फेफड़े के इन्फेक्शन में लाभदायक होता है। इसमें खनिज और विटामिन भी होते हैं। सर्दियों में गुड़ की चाय पीएं। इस मौसम में गुड़ की चाय पीना काफी लाभदायक होता है। गुड़ के सेवन करने से शरीर में स्फूर्ति आती है। रोगरहित और दीर्घायु रहने के लिए भोजन के बाद नियमित रूप से 20 ग्राम गुड़ का सेवन किया जाना चाहिए।

गुड़, काला नमक मिलाकर चाटने से खट्टी डकारें आना बंद हो जाती हैं।  सर्दी में गुड़ और काले तिल चबाने से ब्रांकाइटिस रोग दूर होता है। गुड़, अदरक और तुलसी के पत्तों का काढ़ा बना कर पीने से काफी आराम मिलता है। यह सर्दी-जुकाम से बचाता है।

...

गुड़ और शुद्ध घी मिला कर खाने से ताकत मिलती है। मूत्र विकार भी दूर होते हैं। इसके लिए 250 ग्राम पिसा जीरा और 125 ग्राम गुड़ को मिला कर गोलियां बना लें। दो-दो गोली प्रतिदिन दो बार खाने से मूत्र विकार में लाभ मिलता है। गुड़ को गुनगुने दूध में मिलाकर दिन में दो बार पीने से मूत्र खुल कर आता है। बलिष्ट होता है।

गुड़ खाने से याद्दाश्त कमजोर नहीं होती। भूख बढ़ाने में भी गुड़ मददगार है। हरड़ के चूर्ण में गुड़ मिलाकर खाने से पाचन शक्ति बढ़ती है। गुड़ में पोटेशयम होने के कारण यह हृदय रोगियों के लिये लाभकारी होता है। गुड़ से आधासीसी का दर्द भी ठीक होता है। इस तरह की समस्या होने पर 10 ग्राम गुड़ 5 ग्राम देशी घी में मिलाकर सूर्योदय से पहले खाएं।

गुड़ और फिटकरी का चूर्ण बनाकर एक चम्मच सुबह शाम खाने से पुराना बुखार भी ठीक हो जाता है। गुड़ मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है। गुड़ खाने से मांसपेशियों, नसों और रक्त वाहिकाओं को थकान से राहत मिलती है।
गुड़ रक्तहीनता से पीडि़त लोगों के लिए बहुत अच्छा है। यह शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढाने में मददगार साबित होता है।

इसके साथ ही :

पीलिया रोग में भी गुड़ खाने से आराम मिलता है। इसके लिए दस ग्राम सौंठ, बीस ग्राम गुड़ के साथ मिला लें। इसे दो भागों में बांट लें। सुबह शाम दो टाइम लेने से पीलिया रोग में लाभ होता है।

अस्थमा में भी यह फायदा करता है। पांच ग्राम गुड़ को समान भाग सरसों के तेल में मिलाकर खाने से अस्थमा रोग में फायदा होता है। बाजरे की खिचड़ी में गुड़ डालकर खाने से नेत्र-ज्योति बढ़ती है।

Most Popular On JobsHint
How to improve your sex power with 7 Yoga ! How to improve your sex power with 7 Yoga  ! सेक्स पॉवर बढ़ाने वाले योग के ये हैं रामबाण आसन ! य...

Leave a Reply